“ISHT” What is Isht? क्या है इष्ट ?

‘इष्ट’ “ISHT” What is Isht? क्या है इष्ट ? जय.. जय… ‘इष्ट’ : ‘एही’ साधे सब सधै ! चाहने योग्य, जिसकी इच्छा करनी चाहिए ऐसा, वांछनीय अर्थात ‘इष्ट’। जो भाता हो, सुहाता हो, पसंद हो वह आकर्षित करता है, या उसके प्रति आकर्षण स्वाभाविकतया हो ही जाता है। जो...

Evocation

जय.. जय… आवाहन : जिज्ञासा और खोज का   जिज्ञासा से तो सभी परिचित है ही; जानने, समझने और सीखने अर्थात खोज करने की मूलभूत वृत्ति।   बाह्य आविष्कार एवं आंतरिक अनुभूति दोनों ही प्रकार से; ‘खोज की वास्तविक जननी है जिज्ञासा’ ।   जीवन की...